Beauty Archive

Furniture required for a cosmetologist

Furniture (फर्नीचर) फर्नीचर का चुनाव=ब्यूटी पार्लर का निर्माण करते समय उसमें प्रयोग होने वाले सभी फर्नीचरो का चुनाव सावधानीपूर्वक से किया जाना चाहिए। ब्यूटी पार्लर के कार्यों को करने के लिए विशेष फ्रनीचर का बनवा जाना आवश्यक

Sterilization and Sanitization

Sterilization and Sanitization एक सौंदर्य प्रसाधिका के लिए आवश्यक है कि वह अपने आस पास की जगह को साफ रखें।जिस समान का प्रयोग कर रहे है वह कीटाणु रहित होने चाहिए। उंगलियों तथा नाखूनों में मेल जम

ONLINE COSMETOLOGY COURSE

My Dear Friend This is Susheela from Himachal Pradesh, Providing Beautician Course free Of cost online on my blog names trybeautytips.com , I will cover all the topics which is basic requirement from a Beautician or cosmetologist.

Client consultation ( ग्राहक परामर्श)

Client consultation (ग्राहक परामर्श)- बालो को संवारने तथा सुन्दर बनाना एक प्रकार की कला है । जिस प्रकार एक दुकानदार अपनी वस्तुएं बेचने के लिए अच्छी प्रकार से सजा कर रखता है वह भी एक ग्राहक को

Types of communication (संचार करने के तरीके)

मौखिक संचार अमोखिक लिखित संचार मौखिक संचार (Verbal Communication) इस संचार में कोई भी सूचना या संदेश किसी भी भाषा में बोलकर या एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक पहुंचाई जाती है। एह प्रक्रिया सीधी व सरल

Importance of communication ( संचार का महत्व)

संचार द्वारा व्यक्तियों को किसी भी विषय में जानकारी प्राप्त होती है। जिसके पश्चात व उत्तर दे सके तथा वह उस विषय पर काम कर सके। संचार अपने विचारो को दूसरे के समक्ष प्रकट करने का सरल

VISUAL POISE (शारीरिक मुद्रा या स्थिति)

VISUAL POISE

Same Basic of Good Grooming of an Beautician

There are Same Basic of Good Grooming of an Beautician discussed Below : 1.) अपनी देखभाल (care of your self) शरीर को दुर्गन्ध से बचाने के लिए प्रतिदिन करना चाहिय। यह पसीने की दुर्गंध को रोकता है।

Hygiene Rules (स्वच्छता नियम)

Sanitation of the Institute

Beauty Parlor Basic Tips

1. Personalty development (व्यक्तित्व का विकास) व्यक्तित्व विकास व्यवहार और दृष्टिकोण के संगठित पैटर्न का विकास है जो किसी व्यक्ति को विशिष्ट बनाता है। स्वभाव का विकास स्वभाव, चरित्र और पर्यावरण की परस्पर क्रिया से होता है।व्यक्तित्व